Uncategorized

फर्जी बिल बनाकर एलईडी लाईट के नाम पर लाखों का भुगतान

भारत रक्षक न्यूज

महराजगंज मिठौरा ब्लाक क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सभा बडहरामीर में विद्युत खंभों पर स्ट्रीट लाइट के नाम पर लाखों रुपया निकालकर जिम्मेदारों ने सरकारी खजाना खाली करने का मनबना लिया। विद्युत खंभे पर एलईडी स्ट्रीटलाइट की कीमत ब्रांड कंपनियों के दामोसे अधिक मूल्य पर इलेक्ट्रक दुकान सेफर्जी बिल बना कर सरकारी धन कोलूटने का काम कियाहै। जो वर्तमानमें ग्राम सभा में विद्युत खंभे पर लगेएलईडी स्ट्रीट लाइट को देखकर हीबतायासकता है।

हुआ है। वही दूसरी तरफ ग्राम सभा केचुनिन्दा विद्युत खंभे पर एलईडीलाइटहुए है। जो इस भुगतान काचर्चा जोर शोर से ग्रसभा में चल रहा। युवाओं का कहना है कि इलेक् ट्रिक- इलेक्ट्रनिक क्षेत्र की ब्राण्ड कम्पनीबजाज, फिलिफ्स, ऐंकर, ओरियटलसहित अन्य विद्युत खंभे पर एलईडीस्ट्रीट लाइट की किमत ब्राण्ड कम्पनियोंके हिसाब लगभग 600 से 1200 रुपए प्रति पीस पड़ जायेगा लेकिन ग्रामसभा के जिम्मेदारों ने एलईडी लाईट पर 2 लाख 97 हजार से ऊपर का पेमेन्टकराकर अपना जेब भर रहे हैं। वही ग्रामसभाहाल में लगे एलईडी लाईट जगहजगह अंधेरा देने का कार्य कर रहीग्राम सभा के कोटई माई के स्थान परदूसरी तरफ अनिल के दरवाजे के सामने,तीसरी ओर भोलु के दरवाजे के सामने

ग्राम सभा के जिम्मेदारोअपना जेबभरने का आरोप लगा रहेग्राम सभा विद्युत खंभे पर लगे एलईडी स्ट्रीटलाइट का भुगतान 27 मार्च 2024 / 2 लाख 97 हजार 970 रुपये कापन्द्रहवा राज्य वित्त योजना के तहतवाउचर संख्या एसएफसी – 23 -24 /पी से किया है। जो प्रत्येक एलईडी स्ट्रीट लाइट की कीमत 3 हजार 8 सौ 20 रुपये के दर से मेसर्स विजयलक्ष्मी इन्टर प्राइजेज के नाम से भुगतान हुआ है

जानकारी के अनुसार मिठौरा ब्लाक के ग्राम सभा बडहरामीर में स्थित विद्युतखंभों पर लगे एलईडी स्ट्रीट लाइट सेजिम्मेदार विकास कराने का दावा ठोकरहे है। ग्राम सभा के युवाविकास केनाम पर मिली छूट का दुरुपयोग करके

और मुबारक के घर के सामने लगेएलईडी लाईट खराब हो गया। जिसकोलेकर बडहरामीरग्रामीणों में चर्चा काविषय बना हुआ है। जिलाधिकारी से जाँच कराकर कार्यवाही की मॉग किया है। इस सम्बन्ध में बीडीओ राहुल सागर ने कहा कि जाँच कराकर कार्यवाही किया जायेगा।

Bharat Rakshak News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button