Uncategorized

विकास एवं बुनियादी मुद्दों पर लड़ूंगा चुनाव बसपा प्रत्याशी-मौसमे आलम

भारत रक्षक न्यूज


महराजगंज जनपद के संसदीय क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी चुनाव मैदान में युवा एवं कर्मठी नेता के रुप में आ रहे मौसमे आलम ने एक मुलाकात में बताया कि महराजगंज संसदीय क्षेत्र के लोगों को आज तक केवल लोक लुभावनी बातों में उलझाए रखा गया है। यहां की आवाम अब परिवर्तन का मन बना चुकी है। धीरे धीरे लोगों में जागरूकता आ रही है। वह दिन दूर नहीं जब महराजगंज संसदीय क्षेत्र के लोग परिवर्तन के साथ एक नया इतिहास बनाने के लिए आतुर हैं। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने आवाम को लोक लुभावनी बातों में उलझाकर सिर्फ अपना उल्लू सीधा किया है। विकास के नाम पर सरकारी धन का बंदर बांट किया जा रहा है। सही मायने में धरातल पर विकास कहीं दिखाई नहीं दे रहा है। सर्वांगीण विकास के मामले में महाराजगंज अभी भी बहुत पीछे है। महराजगंज में बहुत सी ऐसी सड़कें हैं जो पूरी तरह से गड्ढा युक्त है। यहां सड़के मानक के विपरीत बनाई जा रही हैं और बनने के 6 माह से 1 साल के भीतर ही सड़क की गिट्टियां उखड़ने लग रही है । सड़कें ही विकास के मुख्य साधन होते हैं लेकिन यहां पर सिर्फ सड़कों के निर्माण के नाम पर धन का बंदर बांट किया जाता है। अभी भी महाराजगंज संसदीय क्षेत्र के युवाओं के पास रोजगार नहीं है। यहां के लोग देश-विदेश जाकर अपना खून पसीना बहाकर रोजी-रोटी का काम करते हैं। जब तक महाराजगंज में उद्योग एवं कल कारखाने स्थापित नहीं किए जाएंगे तब तक युवाओं का पलायन नहीं रुकने वाला है। सबसे जो बुनियादी आवश्यकता है शिक्षा एवं स्वास्थ्य। शिक्षा के क्षेत्र में भी यहां के विद्यार्थी दूसरे शहरों का ही रूख करते हैं यहां व्यावसायिक शिक्षा का अभाव है यदि महाराजगंज में व्यावसायिक शिक्षण संस्थान स्थापित कर दिए जाएं तो यहां के विद्यार्थियों को व्यावसायिक शिक्षा के लिए दूर के शहरों को नहीं जाना पड़ेगा। यदि स्वास्थ्य की बात करें तो आज भी महाराजगंज इससे अछूता नहीं है। यहां न तो मेडिकल कॉलेज है और न ही आधुनिक सुविधायुक्त कोई सरकारी अस्पताल है। यहां के गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीजों को आज भी लखनऊ और दिल्ली जैसे बड़े शहरों का रास्ता अपनाना पड़ता है जो यहां के मरीजों के लिए सहज नहीं है। महाराजगंज की एक बड़ी आबादी कच्चे मकान एवं झोपड़ी में रहने के लिए विवस है ।बहुत से लोग आवास के लिए विकासखंड कार्यालय एवं जिला मुख्यालय पर भागते और दौड़ते हुए दिखाई देते हैं। आलम यह है कि सही मायने में महाराजगंज अभी भी विकास से कोसों दूर है। आज महाराजगंज की आवाम के लिए एक सही एवं युवा नेतृत्व की आवश्यकता है जो यहां की आवाम की समस्याओं को संसद में प्रमुखता से रख सके। मौसमे आलम को बहुजन समाज पार्टी ने अपना प्रत्याशी बनाया है ।इस सूचना पर विपक्षी खेमे में खलबली मच गई है।

Bharat Rakshak News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button